Ultimate magazine theme for WordPress.

81 साल की उम्र में शीला दीक्षित का निधन, दोपहर 3 बजकर 55 मिनट पर ली अंतिम सांस

0

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रही थी. शनिवार को शीला दीक्षित ने अंतिम सांस ली. 81 वर्षीय शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था.

शीला दीक्षित आज सुबह ही फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल में भर्ती हुई थीं. सुबह उन्हें उल्टी हुई थी जिसके बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वह बीतें कुछ दिनों से ह्रदय संबंधी रोगों से बीमार थी.

शीला दीक्षित 1998 से 2013 तक दिल्ली में लगातार तीन बार यानि 15 साल तक मुख्यमंत्री के पद पर रहीं. मुख्यमंत्री रहने से पहले शीला दीक्षित केंद्रीय मंत्री भी रहीं और कांग्रेस सरकार में दो मंत्रालयों को संभाला भी.

Sheila Dikshit passes away at the age of 81

साल 2014 में शीला दीक्षित को केरल राज्य का राज्यपाल बनाया गया था. हालांकि इस पद केवल 5 महीने तक ही रहीं.

कांग्रेस को हर मुश्किल घडी में साथ दिया और हमेशा सभी परेशानियों से बाहर निकालने का काम किया शीला दीक्षित ने.

शीला दीक्षित को इन अवार्ड द्वारा सम्मानित किया गया था.

2008 में जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया द्वारा सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री अवार्ड, एनडीटीवी द्वारा 2009 में राजनेता ऑफ द ईयर पुरस्कार, 2013 में दिल्ली वीमेन ऑफ़ द डिकेड अचीवर्स अवार्ड.

राजनीति में आने से पहले वे कई संगठनों से जुड़ी रहीं और उन्होंने कामकाजी महिलाओं के लिए दिल्ली में दो हॉस्टल भी बनवाए.

Sheila Dikshit passes away at the age of 81

1998 में सोनिया गाँधी ने उन्हें दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया. वो न सिर्फ़ चुनाव जीतीं बल्कि लगातार तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री बनीं. ये पूछे जाने पर कि 15 साल के उनके कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धि क्या है, शीला दीक्षित कहती हैं, ‘ पहला ‘मेट्रो’, दूसरा ‘सीएनजी’ और तीसरा दिल्ली की हरियाली, स्कूलों और अस्पतालों के लिए काम करना. शायद इसिलिए शीला दीक्षित को “दिल्ली का शिल्पकार” भी कहा जाता था

Sheila Dikshit passes away at the age of 81

शीला दीक्षित के दो बच्चे हैं. बेटे संदीप दीक्षित लोकसभा में पूर्वी दिल्ली का प्रतिननिधित्व कर चुके हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.