Ultimate magazine theme for WordPress.

सोनिया फिर संसदीय दल की नेता बनीं, राहुल ने कहा- पार्टी का हर सदस्य संविधान के लिए लड़ेगा

0
  • कांग्रेस प्रेसीडेंट ने पार्लियामेंट हाउस में सभी 52 एमपी के साथ meeting की
  • सीडब्ल्यूसी बैठक-CWC meeting के बाद राहुल पहली बार इस बैठक में पहुंचे

नई दिल्ली। संसद भवन में शनिवार को जीतकर आये कांग्रेस के 52 एमपी की बैठक में सोनिया गांधी को फिर से पार्टी ने संसदीय दल का अपना नेता चुन लिया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने कांग्रेस पर करीब 12 करोड़ वोटरों का भरोसा जताने के लिए शुक्रिया अदा किया। बैठक में राहुल ने बताया कि कांग्रेस का हर सदस्य संविधान और बिना भेदभाव किये भारत के हर नागरिक की लड़ाई लड़ना जारी रखेगा। नई सरकार बनने के बाद 17 जून से शुरू हो रहे संसदीय सत्र के मुद्दों पर बैठक में बातचीत हुई।

चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद 25 मई को कांग्रेस कार्यसमिति-CWC की बैठक हुई थी। बैठक में राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी, लेकिन सीडब्ल्यूसी ने इसे तुरंत ठुकरा दिया था। इसके बाद ये पहला मौका है, जब राहुल गांधी खुलकर पार्टी नेताओं से मिले हैं। 28 और 29 मई को वे केसी वेणुगोपाल, अहमद पटेल और रणदीप सुरजेवाला के साथ बातचीत कर चुके हैं।

पायलट, शीला और गहलोत को राहुल से बातचीत नहीं की

राजस्थान की कांग्रेस सभी 25 लोकसभा सीटें हार चुकी है और इसी कारण राहुल गांधी CM अशोक गहलोत Ashok Gahlaut और Deputy CM सचिन पायलट से गुस्साए बताये जा रहे हैं। दिल्ली में तीन दिन तक दोनों नेता राहुल से मिलने की कोशिश करते रहे, लेकिन राहुल गांधी ने उन्हें मुलाकात का समय नहीं दिया। तीन दिन बाद दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित- शीला Dixit भी नेताओं के साथ राहुल से मिलने उनके घर पहुंची थीं, लेकिन सभी बाहर लम्बे समय तक इंतजार ही करते रहे। इसके बाद बुधवार को राहुल की कुछ तस्वीरें ट्विटर पर वायरल दिखीं, जिनमें वे अपने पालतू कुत्ते पिडी को कार में घुमाते दिखे थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.