Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

UP में एम्बुलेंस नहीं आने पर पत्नी को ठेला-रिक्शा पर ले जाना पड़ा अस्पताल

0

UP में फिर एक बार शर्मनाक घटना सामने आई हैं. शुक्रवार को शामली के पंसारियान मोहल्ले में रहने वाले पप्पू ने अपनी बीमार पत्नी को अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस को फोन किया. फ़ोन करने के बावजूद भी घंटों तक 108 एंबुलेंस नहीं आई. इसके बाद पप्पू अपनी बीमार पत्नी को ठेला-रिक्शा में लिटाकर 3 किमी दूर अस्पताल लेकर गया. अस्पताल पहुंचने के बाद वहां के स्टाफ ने पप्पू के बहस शुरू कर दी, बाद में जैसे-तैसे पप्पू की पत्नी को भर्ती किया. हॉस्पिटल के CMO का कहना है कि 108 एंबुलेंस को कोई फोन नहीं किया गया था. लेकिन अगर ऐसा हुआ हैं तो मामले की जांच कराई जाएगी.

35 वर्ष की बीमार महिला अंजु विकलांग है और वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रही थी. शुक्रवार को अंजू की तबियत दोपहर करीब 11 बजे करीब ज्यादा खराब हो गयी थी. जिस वजह से विकलांग व बीमार पत्नी को अस्पताल ले जाने के लिए पप्पू ने एम्बुलेंस को फ़ोन किया. बहुत देर तक एम्बुलेंस के न आने पर ठेला-रिक्शा चलाने वाला पप्पू अपनी पत्नी को ठेला-रिक्शा से ही हॉस्पिटल लेकर गया.

गर्मी से राहत दिलाने के लिए पप्पू का बेटा अपनी बीमार माँ की ठेला-रिक्शा में पंखे से हवा करता गया.

UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वास्थ्य अधिकारियों की डांट लगाने के बाद भी जिले में स्वास्थ्य के प्रति कोई नियम दिखाई नहीं दे रहा हैं. 2 दिन पहले ही जिले के अधिकारी व प्रमुख सचिव कृषि विभाग अमित मोहन प्रसाद ने शामली CHC की जांच की थी और जांच के वक़्त उन्होंने कहा था कि अस्पताल में सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं और सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा है. 2 दिन पहले ही प्रमुख सचिव द्वारा अस्पताल की जांच होना और उसके थोड़े समय बाद ही इस तरीके की घटना सामने आना स्वास्थ्य विभाग की कार्यों पर एक सवाल जरूर खड़ा करता है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.