Ultimate magazine theme for WordPress.

जानिए क्या रहेगा आपके शहर में मौसम का मिज़ाज. पढ़िए जानलेवा लू से बचने के तरीके

0

देश में लगभग हर जगह गर्मी का प्रकोप जारी है. उत्तर भारत, मध्य और दक्षिण भारत में दो और दिनों तक लू जारी रहने और फिर उसके धीरे-धीरे कम होने की आशंका जताई जा रही है.

रविवार भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने कहा, ‘देश के उत्तरी हिस्सों में पूर्वी हवा कम चलेगी जिसके वजह से रविवार से पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश के लोगों को लू से काफी रहत मिलने की संभावना जताई जा रही है.

शुक्रवार को मौसम विभाग ने दो दिनों के लिए दिल्ली में रेड अलर्ट जारी कर दिया. मौसम विभाग की मानें तो इसके बाद भी छह जून तक गर्मी से राहत मिलने की कोई आशंका नज़र नहीं आ रही है. शुक्रवार को भी भीषण गर्मी का दौर जारी रहा. उमस भरी गर्मी से दिन भर लोग परेशान रहे.

आज दिल्ली NCR का 42 डिग्री सेल्सियस है.

‘सोमवार को मध्य प्रदेश और पश्चिम राजस्थान में IMD ने तेज लू चलने का अनुमान जताया था. IMD मौसम की उग्रता को चार रंग में बांटता हैं- लाल रंग अत्यधिक उग्र मौसम के लिए, इसके बाद एंबर, पीला और हरा रंग, जो सामान्य मौसम बताने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में लू का प्रकोप जारी है.

  1. श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 48.6 डिग्री सेल्सियस
  2. बीकानेर – 48.1 डिग्री सेल्सियस
  3. जैसलमेर – 47.8 डिग्री सेल्सियस
  4. कोटा – 47.5 डिग्री सेल्सियस
  5. बाड़मेर – 47.2 डिग्री सेल्सियस
  6. जोधपुर – 46.4 डिग्री सेल्सियस
  7. जयपुर – 45.5 डिग्री सेल्सियस
  8. अजमेर – 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उत्तर प्रदेश में रविवार को सबसे ज्यादा तापमान बांदा में 49 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वहीं, महोबा में अधिकतम तापमान 47 डिग्री रहा. वहीं, हरियाणा में भी तापमान 48 के पास पहुंच गया है. प्रदेश का नारनौल 47.6 डिग्री तापमान के साथ सबसे ज्यादा गर्म रहा.

लू से दो दिन और नहीं मिलेगी राहत, दी चेतावनी

IMD के मुताबिक, अगर किसी जगह का तापमान लगातार दो दिन तक 45 डिग्री से ज्यादा रहता है तो इसे लू कहा जाता है. वहीं, अगर तापमान 47 डिग्री से ऊपर रहे तो इसे गंभीर की श्रेणी में रखा जाता है. ऐसे में विभाग ने अगले दो दिन तक लू से राहत नहीं मिलने की बात कही है.इसे देखते हुए चेतावनी भी जारी की गई है.

लू लगने पर क्या करें और क्या न करें

“नम स्पंज के उपयोग से ठंडे या टैपिड स्नान की मदद से शरीर को ठंडा रखने की कोशिश कीजिये. हालांकि पानी में में बैठने या कूलिंग ब्लेंकेट के इस्तेमाल से बचना चाइये. कुछ सावधानियां जरूरी हैं, जैसे पसीना आना, 7-8 घंटे तक पेशाब न होना या गर्मियों में उच्च बुखार होना. ये लक्षण नज़र आने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें. इस मौसम में खास सावधानी बरतनी चाहिए. जिन लोगों को तरल या नमक लेने पर प्रतिबंध है या जो मूत्रवर्धक दवा ले रहे हैं, उन्हें तुरंत किसी विशेषज्ञ से मिलना चाहिए.”

गर्मियों में किन बातों का रखें ध्यान

खानपान सही रखें

हमारे लिए गर्मी में खानपान यानी डाइट पर गौर करना सबसे जरूरी रहता है, क्योंकि इस मौसम में हम
खानपान को लेकर ज्यादा चूजी हो जाते हैं। खाने में रोटी, दाल, हरी सब्जी, चावल, दही, पापड़, नींबू, आचार आदि जरूर खाना चाहते हैं। इन्हें भी सीमित मात्रा में थाली में रखें। कोशिश करें कि बासी, मिर्च मसाले, तली हुई चीजें और चटपटे खाने खाने से दूरी बना कर रखें।

एनर्जी ड्रिंक भी जरूर लें

गर्मी में सबसे ज्यादा जरूरत एनर्जी ड्रिंक की पड़ती है। इस पर्याप्त मात्रा में इस्तेमाल करने से हमारी बॉडी में पानी की कमी कभी नही होने पाती। इस मौसम में नीबू, पोदीना पानी छाछ, फ्रूट जूस, मिल्कशेक, ग्रीन सलाद और नारियल पानी जरूर पीयें। सलाद की श्रेणी में खीरा, ककड़ी, तरबूज और खरबूज भी जरूर खाते रहें, लेकिन कोशिश करें कि कोल्ड ड्रिंक कम से कम करें, क्योंकि देखने में आया है कि कोल्ड ड्रिंक कुछ ही देर के लिए मजा देते हैं, अच्छे लगते हैं लेकिन ये नुक्सान ज्यादा करते हैं।

भरपूर पानी पीते रहें

अगर दिनभर में आपने पानी पीने में कोताही की, तो गर्मी के मौसम में आप पर इसका बुरा असर होना तय है और आप लू या गर्मियों से होने वाली दूसरी बीमारियां से परेशान हो सकते हैं। हो सके तो पानी की एक बोतल हमेशा अपने पास रखें। लेकिन चाय और कॉफी रह-रहकर न पिया करें।

बाहर निकलते समय इन्हें ले जाना न भूलें

घर से निकलते समय सिर पर टोपी रखें, इसके साथ ही चेहरा और सिर पर कपड़ा बांधकर जरूर रखें। निकलने से पहले खूब पानी पी लें और पानी की बोतल में नींबू का रस भी डालकर उसे साथ में रखें। आंखों वाले वे चश्मे जरूर लगाएं, जिनसे आप धूप से बचे रहें। पैरो को सुकून देने वाले जूते पहनें।

धूप से लौटें तो तुरंत एसी या कूलर के सामने आने से बचें

आप जब भी बाहर से घर में आएं, एसी या कूलर लगे कमरे में जाने से बचें। इसके विपरीत, अगर एसी और कूलर की हवा में बैठे हैं, तो तुरंत धूप में न निकलें, बल्कि पहले शरीर को सामान्य तापमान लायक हो जाने दें, फिर घर से बाहर निकलें। वैसे सुबह और शाम ठंडी हवा में जरूर टहलें।

आंखों और त्वचा का ध्यान जरूरी

गर्मी के मौसम में आंखों और त्वचा पर इस मौसम का काफी बुरा असर होता है। इसलिए जरूरी है कि इन पर खास ध्यान भी रखा जाए। ठंडे पानी से आंखें रह-रह कर साफ करते रहना भी जरूरी है। विटामिन-सी वाले फलों को अपने खाने में जरूर शामिल किया करें। बॉडी पर सनस्क्रीन के इस्तेमाल की आदत डालें। इस मौसम में हर रोज दो बार तो जरूर नहाएं। इससे चमड़ी का बाहरी हिस्सा साफ होता है और इस पर चिपकी मैल और पसीना, दोनो निकल जाते हैं। नहाने के दौरान अच्छे फ्लेवर और माइल्ड सोप इस्तेमाल करना चाहिए। इसके बाद पाउडर या क्रीम का इस्तेमाल जरूर करें। साथ ही, हर्बल क्रीम लगाना न भूलें।

सूती कपड़े अपनाएं

गर्मी के मौसम में हल्के रंग सुकून देते हैं, इसलिए हल्के रंगों वाले सूती कपड़े पहनें, ये आरामदायक होते हैं और गर्मी से बचाते भी हैं। लेकिन कपड़े चुस्त नहीं होने चाहिए। इसीलिए गर्मियों में सफेद रंग सबसे अच्छा माना गया है।

अगर इन बातों पर अमल करेंगे, तो गर्मी को आप हरा सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.