Ultimate magazine theme for WordPress.

पानी की किल्लत को देखते हुए आप इन तरीकों से अपने घर में पानी बचा सकते हैं. Public View की मुहिम से आप भी जुड़ें.

0

नीति आयोग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2020 तक भारत के 21 शहरें भूजल यानी ग्राउंड वॉटर से वंचित हो सकते हैं. अगर ये संभावना सच हो गयी तो इससे लगभग 10 करोड़ लोग प्रभावित होंगे. इन शहरों में चेन्नई और दिल्ली जैसे शहरों के भी नाम शामिल हैं.

चेन्नई शहर से आई तस्वीरें किसी से छिपी नहीं है, कैसे वहां के लोग पानी बिना परेशान हैं. वहां हॉस्टल, आईटी कंपनीज और होटल सब या तो बंद हैं या फिर अनियमित तरीके खुले हैं.

मौजूदा वक़्त में जो पानी को लेकर स्थिति सामने आयी है उससे मुँह फेरने से अच्छा है कि, हम अपने तरीके से जैसे भी हो पानी बचाएं.

ये भी पढ़ें: केंद्र सरकार को जल- नल योजना से मिली पहली सफलता, 68 लाख की लागत से चुई गांव में जल संकट खत्म

चलिए आपको कुछ तरीके बताते हैं जिससे आप अपने घर में पानी को बचा सकते हैं.

ब्रश करने के दौरान नल को बंद रखें.

ज्यादातर देखा जाता है कि हम ब्रश करने के दौरान नल चालू ही रखते हैं, जिस वजह से काफी मात्रा में पानी बर्बाद हो जाता है. एक उपाय तो यह है कि जब ज़रुरत पड़े तब ही नल को चालू करें. ब्रश करते हुए पानी बचाने का दूसरा उपाए यह है कि आप मग का इस्तेमाल कर सकते हैं.

नहाते वक़्त शावर के जगह बाल्टी का इस्तेमाल करें

नहाते वक़्त ‘बाल्टी’ में पानी भर कर नहाएं क्यूंकि शावर, टब में नहाने से बाल्टी के मुकालबे ज्यादा पानी खर्च होता है. तो हम इस तरीके से भी पानी के खर्च को कम कर सकते हैं.

बरसात के पानी को स्टोर कर हम उसे इस्तेमाल करने लायक बना सकते हैं.

हम अपने-अपने घरों की छत से नीचे गिरने वाले बारिश की पानी को ही किसी तरह स्टोर कर लें. तो यह हमारी कई जरूरतों को पूरा कर सकता है.

सरकार को भी चाहिए कि एक ऐसा सिस्टम तैयार करें जिससे हम बारिश के पानी को इस्तेमाल करने लायक बना सकें.

पौधों को पानी देने के लिए वाटरिंग कैन का इस्तेमाल करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है

यदि हम पौधों को बाल्टी या मग की मदद से पानी देते हैं, तो हमें अधिक पानी की जरूरत पड़ती है लेकिन वहीँ वाटरिंग कैन का इस्तेमाल करें तो पानी का सही उपयोग करने में मददगार साबित हो सकता है.

गाड़ी धोते वक्त पाइप का इस्तेमाल करने से बचें

आप गाड़ी को धोने के लिए पानी के पाइप की बजाये बाल्टी और एक स्पंज इस्तेमाल करें, आप ऐसा करते ही खुद समझ जायेंगे कि आपने पहले के मुक़ाबले कितना पानी खर्च किया है.

जानवरों को बाग़ीचे में नहलाना एक तीर से दो निशाना साबित होगा

यदि आप आपके पास पालतू जानवर हैं तो आप उसे बाग़ीचे में नहलाने की कोशिश कीजिये ताकि जो पानी उसे नहलाने खर्च हो वो बाग़ीचे के घास को मिल जाये और आपको अलग से पानी न देना पड़े.

Public View : ‘जल शक्ति अभियान’ में एक छोटी सी भागीदारी हमारी भी, अगर आपके पास जल संरक्षण से जुड़ा कोई आइडिया, या तस्वीर है तो हमसे शेयर करें. हम आपकी बातों को प्रकाशित करेंगे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.